खुशखबरी! नया साल 2023 छत्तीसगढ़ किसानों के लिए खास! राजीवगांधी किसान न्याय योजना समेत मिलेंगी कई सौगात..जाने विस्तार से

इस Post को आप Share भी कर सकते हैं 👇

Chhattisgarh Kisan Nyay Yojana 2023 : किसान भाइयों यह बात मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल कई बार कह चुके हैं। की अगर धान का दाम दुनिया मे सबसे ज्यादा कहीं मिल रहा है तो वह छत्तीसगढ़ में मिल रहा है छत्तीसगढ़ के किसानों को मिल रहा है और इस साल धान बेचने वाले किसानों को प्रति क्विंटल 2640 रु मिलेगा, आने वाले समय में धान का दाम और भी बढ़ सकता है। राजीव गांधी किसान योजना(rajiv gandhi kisan nyay yojana) का लाभ किसानों को मिल रहा है। आदान सहायता राशि प्रति एकड़ 9000 रु किसानों को कुल चार किस्तों में दिया जा रहा है। और आगे भी मिलता रहेगा ।

 

छत्तीसगढ़ में ना सिर्फ धान बल्कि धान के अलावा अन्य फसलों को भी किसानों से समर्थन मूल्य पर खरीदी की जा रही है ताकि किसानों को उपज का सही दाम मिल सके। अब 2023 यानी नया साल किसानों के लिए खास होने वाला है। छत्तीसगढ़ में समर्थन मूल्य(support price) पर धान खरीदी जा रही है।

 

किसानों को धान का समर्थन मूल्य ₹2000 से ज्यादा मतलब 2040 और 2060 रुपये प्रति क्विंटल मिल रहा है। इसके साथ ही अब छत्तीसगढ़ की मिलेट उत्पादक किसानों को भी समर्थन मूल्य का लाभ मिल रहा है जिसमें कोदो कुटकी रागी इन फसलों को समर्थन मूल्य(msp) पर छत्तीसगढ़ सरकार खरीद रही है। वही अरहर मूंग उड़द को भी समर्थन मूल्य पर छत्तीसगढ़ सरकार खरीदने की घोषणा की है और उसका भी लाभ किसानों को मिल रहा है।

इसे भी पढ़ें -  छत्तीसगढ़ किसानों के लिए सुविधा धान खरीदी के 48 घंटे के भीतर किसानों को भुगतान, मार्च तक 115 एटीएम लगाने का लक्ष्य

 

 

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के मंत्रिपरिषद में किसानों के लिए महत्वपूर्ण फैसले:

▪️वाणिज्यिक वृक्षारोपण से पर्यावरण सुधार और किसानों की आय में वृद्धि के लिए महत्वपूर्ण निर्णय लेते हुए राज्य में मुख्यमंत्री वृक्ष संपदा योजना प्रारंभ करने का निर्णय लिया गया।

 

▪️इस योजना के तहत राज्य में प्रतिवर्ष 36 हजार एकड़ के मान से 5 साल में एक लाख 80 हजार एकड़ मे क्लोनल नीलगिरी, टिशु कल्चर सागौन एवं बांस, मिलिया डुबिया सहित अन्य आर्थिक लाभकारी प्रजातियों के 15 करोड़ पौधों का रोपण का लक्ष्य रखा गया है। इस योजना का लाभ सभी वर्ग के इच्छुक भूमि स्वामी सहित शासकीय, अर्ध शासकीय, शासन की स्वायत्त संस्थाएं, निजी शिक्षण संस्थाएं, निजी ट्रस्ट, गैर शासकीय संस्थाएं पंचायतें और लीज लेंड होल्डर जो अपने भूमि में रोपण करना चाहते है, ले सकेंगे।

 

▪️प्रदेश में मिलेट्स मिशन कार्यक्रम के क्रियान्वयन के संबंध में चर्चा की गई और राज्य में मिलेट उत्पादन और उसके उपयोग को बढ़ावा देने के लिए कृषि, वन, सहकारिता, पंचायत एवं ग्रामीण विकास, स्कूल शिक्षा, अनुसूचित जाति एवं जनजाति विकास, खाद्य, महिला एवं बाल विकास, ग्रामोद्योग, संस्कृति, वाणिज्य एवं उद्योग, पर्यटन, जनसंपर्क, गृह एवं जेल, वाणिज्यिक कर तथा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा संयुक्त रूप से पहल की जाएगी।

 

 

छत्तीसगढ़ किसानों को फसलों के समर्थन मूल्य :

धान प्रति क्विंटल – 2040 रु (सामान्य) 2060 रु (ऐ ग्रेड)
कोदो कुटकी प्रति क्विंटल – 3000 रुपये
रागी प्रति क्विंटल – 3377 रूपए
अरहर और उड़द – 6600 रुपए प्रति क्विंटल
मूंग का न्यूनतम समर्थन मूल्य – 7755 रुपए प्रति क्विंटल

इसे भी पढ़ें -  महतारी वंदन योजना खुशखबरी.. इस दिन मिलेगा पैसा.. हितग्राहियों के खातों में डीबीटी के माध्यम से जाने विस्तार से..

 

तो इस तरह नया साल 2023 में विभिन्न फसलों पर समर्थन मूल्य का लाभ किसानों को मिलने वाला है जिसमें धान के साथ-साथ कोदो कुटकी रागी और उड़द मूंग अरहर और भी अन्य फसल शामिल है। किसानों को नई फसलों पर समर्थन मूल्य देने का घोषणा किया गया था जानकारी के अभाव के कारण किसान फसल उत्पादन नहीं कर पाए थे क्योंकि अब सरकार ने इसकी घोषणा की है तो उम्मीद है कि इस साल 2023 में किसान पहले से ही तैयारी कर रखेंगे जिससे कि धान के साथ-साथ अन्य फसलों का समर्थन मूल्य(msp) का लाभ किसान उठा सकेंगे।

 

 

छत्तीसगढ़ में राजीवगांधी किसान न्याय योजना और समर्थन मूल्य पर धान खरीदी :

फिलहाल छत्तीसगढ़ में धान खरीदी जारी है किसानों को भुगतान भी हो रहा है। धान का समर्थन मूल्य में अगर वृद्धि होता है तो छत्तीसगढ़ के किसानों को किसान न्याय योजना के तहत मिल रहा सब्सिडी मिलाकर प्रति क्विंटल 2700-2800 रु तक मिल सकता है। वहीं सरकार अगर घोषणा करती है तो प्रति एकड़ 20 क्विंटल धान की खरीदी भी हो सकता है। और इस तरह नया साल किसानों के लिए किसानों की आय के लिए बेहतर शाबित हो सकता है।

 

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल कई बार बता चुके है कि छत्तीसगढ़ सरकार किसानों को आर्थिक लाभ दिलाने आत्मनिर्भर बनाने योजना बनाकर किसानों के जेब में पैसे डालने का काम कर रहा है, और इस साल में भी किसानों को राजीव गांधी किसान न्याय योजना का लाभ मिलता रहेगा। मिली जानकारी अनुसार अब तक राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत 16415 करोड़ की आदान सहायता राशि किसानों के बैंक खाता में ट्रांसफर किया गया है। पिछले सीजन के चौथा क़िस्त किसानों को मिलना बाकी है। किसान न्याय योजना का चौथा क़िस्त 31 मार्च को किसानों को मिलेगा ।

इसे भी पढ़ें -  छत्तीसगढ़ आज की खास खबर.. Chhattisgarh aaj ke 3 khas khabar.. 

 

 


इस Post को आप Share भी कर सकते हैं 👇
error: Content is protected !!