छत्तीसगढ़ के किसानों के लिए पंचांग, जानिए इसकी खासियत क्यों है किसानों के लिए उपयोगी कृषि मंत्री नेताम ने क्या कहा..

इस Post को आप Share भी कर सकते हैं 👇

छत्तीसगढ़ किसान पंचांग : अब तक हम किसानों के लिए योजनाओं की बात करते रहते हैं योजनाओं की जानकारी आप लोगों के साथ शेयर करते रहते हैं। छत्तीसगढ़ के किसानों को विभिन्न योजनाओं का तो लाभ मिल ही रहा है लेकिन आज छत्तीसगढ़ किसानों के लिए पंचांग भी आ गया है। और आज हम जानेंगे कि हमारे छत्तीसगढ़ के किसान भाइयों के लिए यह पंचांग की क्या? खासियत है और कितना उपयोगी है।

 

कृषि मंत्री श्री रामविचार नेताम ने आज यहां बीज निगम कार्यालय में इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय द्वारा प्रकाशित कृषि पंचांग – 2024 का विमोचन किया। श्री नेताम ने कृषि पंचांग के प्रकाशन हेतु इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. गिरीश चंदेल एवं उनके सहयोगियों को बधाई एवं शुभकामनाएं दीं।

 

कृषि मंत्री श्री नेताम ने कहा कि कृषि पंचांग में इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय द्वारा किये जा रहे अनुसंधान एवं विस्तार कार्याें के साथ ही नवीनतम कृषि प्रौद्योगिकी तथा किसानों के लिए केन्द्र एवं राज्य सरकार द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं की जाकारियों का समावेश किया गया है, जो किसानों के लिए बेहद उपयोगी साबित होगा। उन्होंने आशा व्यक्त की कि कृषि विश्वविद्यालय प्रदेश के किसानों के हित में इसी प्रकार निरंतर कार्य करता रहेगा।

 

पंचाग की खासियत, किसानों के लिए उपयोगी..

इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. गिरीश चंदेल ने कृषि मंत्री को विश्वविद्यालय द्वारा प्रकाशित कृषि पंचांग 2024 के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय द्वारा विगत 20 वर्षों से कृषि पंचांग एवं कृषि दर्शिका का प्रकाशन किया जा रहा है, जिसमें विभिन्न किसानोपयोगी जानकारियों का समावेश होता है। 

इसे भी पढ़ें -  छत्तीसगढ़ धान खरीदी तारीख बढ़ाने को लेकर Cm विष्णुदेव साय का बड़ा बयान... जाने विस्तार से..

 

उन्होंने बताया कि कृषि पंचांग में वर्ष के 12 महीनों के कैलेन्डर एवं पंचांग के साथ-साथ किसानों के लिए केन्द्र एवं राज्य सरकार द्वारा संचालित योजनाओं, इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय द्वारा किये जा रहे अनुसंधान, विकास तथा विस्तार कार्याें, विभिन्न फसलों की नवीन उन्नत किस्मों, प्रमुख अनाज, दलहन, तिलहन, फल, फूल, सब्जी, मसाला आदि फसलों की कृषि कार्यशाला एवं उत्पादन तकनीक, नवीनतम कृषि प्रौद्योगिकी, कृषि विश्वविद्यालय के अंतर्गत संचालित कृषि महाविद्यालयों तथा कृषि विज्ञान केन्द्रों की प्रमुख गतिविधियों को शामिल किया जाता है। 

 

विमोचन समारोह में इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के कुलसचिव श्री जी.के. निर्माम, निदेशक विस्तार सेवाएं डॉ. अजय वर्मा, संचालक अनुसंधान डॉ. विवेक कुमार त्रिपाठी, डॉ. के.एल. नंदेहा, डॉ. ज्योति भट्ट, डॉ. दीप्ति झा, डॉ. जी.पी. आयाम एवं डॉ. देव प्रकाश पटेल उपस्थित थे।

“छत्तीसगढ़ के विभिन्न योजना से जुड़ी अपडेटेड इनफॉरमेशन महत्वपूर्ण जानकारियां लगातार हम its chhattisgarh के माध्यम से आप लोगों को आगे भी पहुंचते रहेंगे इसलिए अपना प्यार और सपोर्ट चैनल के साथ बना कर रखिए।”

“तो भाई आप हमारे Youtube channel its chhattisagrh को subscribe करके रखिए साथ ही हमारा Teligram चैनल है उसको भी join करके रखिएगा।  इसके अलावा हमारा Whatsapp चैनल है। उसको भी आप join कर लीजिए इनका लिंक आप लोगों को ऊपर और नीचे post में दिख रहा होगा।”


इस Post को आप Share भी कर सकते हैं 👇
error: Content is protected !!