छत्तीसगढ़ में राशन कार्ड, आयुष्मान स्वास्थ्य कार्ड, श्रम कार्ड बनाने लोगों के सुविधाओं के लिए होगा शिविरों का आयोजन

इस Post को आप Share भी कर सकते हैं 👇

Cg Raipur : रायपुर जिले में लोगों की समस्याओं के निराकरण के लिए मार्च महीने से ग्रामीण तथा नगरीय क्षेत्रों में शिविर लगाए जाएंगे। कलेक्टर डाॅ सर्वेश्वर भुरे ने शिविरों के लिए विस्तृत कार्य योजना बनाने के निर्देश आज समय सीमा के साप्ताहिक बैठक में दिए। मुख्यमंत्री के भेंट मुलाकात कार्यक्रम के दौरान मिले आवेदनों, मुख्यमंत्री की घोषणाओं एवं जनसामान्य की मांगों-शिकायतों से संबंधित विषयों पर अधिकारियों से चर्चा कर जल्द से जल्द निराकृत करने के निर्देश भी दिए।

आयोजित बैठक में कलेक्टर ने मार्च महीने से जिले के ग्रामीण और शहरी इलाकों में लोगों की समस्याओं केे निराकरण के लिए क्लस्टर स्तरीय शिविर लगाने के निर्देश दिए। 10 से 12 ग्राम पंचायतों को मिलाकर एक क्लस्टर बनेगा। इसी प्रकार नगर पंचायत और नगर निगम क्षेत्रों में भी शिविर आयोजित होंगे। इन शिविरों में राशन कार्ड बनाने, आयुष्मान स्वास्थ्य कार्ड बनाने, श्रम कार्ड बनाने से लेकर लोगों की सभी समस्याओं का यथासंभव मौके पर ही  निराकरण किया जाएगा। ग्रामीण इलाकों में हाट बाजार वाले दिन या बुधवार और शु्क्रवार को शिविर लगेंगे। नगर पंचायतों में शनिवार को शिविर लगाए जाएगें।

कलेक्टर डाॅ भुरे ने मार्च माह के पहले सप्ताह से ही शिविरों की कार्य योजना बनाने और तिथिवार समय सारणी तैयार करने के निर्देश सभी अनुविभागीय राजस्व अधिकारियों को दिए है। समय सीमा बैठक में कलेक्टर ने मुख्यमंत्री भेंट मुलाकात कार्यक्रम में की गई घोषणाओं को पूर्णतः अमल में लाने के लिए प्रक्रिया शुरू करने और की गई शिकायतों-मांगों का भी तत्काल निराकरण करने के निर्देश दिए। उन्होंने सभी स्कूली बच्चो का जाति प्रमाण पत्र बनाने के निर्देश अधिकारियों को दिए। कलेक्टर ने खरोरा के नव निर्मित छात्रावास भवन में पानी निकासी और बाउंड्रवाल निर्माण की व्यवस्था करने कहा। डाॅ भुरे ने शहरों तथा ग्रामीण में राशन दुकानों के आबंटन की कार्रवाई शीघ्र करने के निर्देश भी अधिकारियों को दिए। कलेक्टर ने आरंग जनपद में मछली पालन के लिए निर्धारित तालाबों की आबंटन प्रक्रिया जल्द पूर्ण करने के निर्देश दिए।

इसे भी पढ़ें -  धान खरीदी छत्तीसगढ़ किसानों का पंजीयन 31 अक्टूबर से बढ़कर अब 21 नवम्बर तक, मिलेगा समर्थन मूल्य व किसान न्याय योजना का लाभ

कलेक्टर ने स्थानीय उद्योगों में शासन की नीति के अनुसार अकुशल श्रमिकों से पदों पर शत प्रतिशत स्थानीय लोगो को रोजगार उपलब्ध कराया जाना सुनिश्चित करने के निर्देश उद्योग विभाग के अधिकारियों सहित अनुविभागीय राजस्व अधिकारियों को दिए। इसी तरह सामाजिक प्रतिनिधियो द्वारा भेंट मुलाकात के दौरान सामाजिक भवन के लिए जमीन की मांग पर कलेक्टर ने सभी अनुविभागीय अधिकारियों को नियमतः कार्यवाही करने के निर्देश दिए। उन्होंने अभनपुर में श्रमिको के लिए चावड़ी बनाने की प्रक्रिया शुरू करने को भी कहा। कलेक्टर ने जिले में अवैध निर्माण के नियमतिकरण के प्रकरणों का त्वरित निराकरण करने के निर्देश विभागीय अधिकारियों को  दिए।


इस Post को आप Share भी कर सकते हैं 👇
error: Content is protected !!