छत्तीसगढ़ किसानों के लिए सुविधा धान खरीदी के 48 घंटे के भीतर किसानों को भुगतान, मार्च तक 115 एटीएम लगाने का लक्ष्य

इस Post को आप Share भी कर सकते हैं 👇

Chhattisgarh Dhan Kharidi 2023 : विशेष सचिव सहकारिता श्री हिम शिखर गुप्ता और पंजीयक सहकारी संस्थाएं श्री नरेन्द्र कुमार दुग्गा ने नवा रायपुर स्थित अपेक्स बैंक मुख्यालय में सहकारिता विभाग की योजनाओं की समीक्षा की। विशेष सचिव सहकारिता श्री हिम शिखर गुप्ता ने बैठक में उपस्थित अधिकारियों को धान खरीदी के 48 घंटे के भीतर किसानों के धान की राशि का भुगतान करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि प्रदेश में सहकारी बैंकों की शाखाओं में 31 मार्च तक 115 एटीएम लगाने का लक्ष्य है। नाबार्ड सहायता अंतर्गत आरआईडीएफ योजना से 725 गोदाम निर्माण की स्वीकृति किया गया है। इस सभी गोदामों का निर्माण वर्षाकाल के पूर्व समय-सीमा में पूर्ण करने के निर्देश अधिकारियों को दिए गए हैं।

अब तक के धान खरीदी व ऋण वसूली :

छत्तीसगढ़ में 2616 धान उपार्जन केन्द्र के माध्यम से 10 जनवरी शाम 5.30 बजे तक 91.15 लाख मीट्रिक टन धान की खरीदी की गई है। धान खरीदी के एवज में राज्य के 21.17 लाख किसानों को 18,766 करोड़ रूपए का भुगतान बैंक लिंकिंग व्यवस्था के तहत किया गया है। किसानों से ऋण वसूली जारी : ऋण के विरूद्व वसूली की समीक्षा में बताया गया कि 5663 करोड़ रूपए की मांग के विरूद्व 4580 करोड़ रूपए की वसूली हो चुकी है, जो कि 80 प्रतिशत है।

31 मार्च 2023 तक 115 एटीएम लगाने का लक्ष्य :

अधिकारियों ने बताया कि छत्तीसगढ़ में सहकारी बैंकों की कुल 326 शाखाएं है, जिसमें 110 एटीएम कार्यरत हैं। बैठक में निर्देशित किया गया कि 31 मार्च 2023 तक 115 एटीएम लगाने का लक्ष्य दिया गया है। इससे किसानों को राशि आहरण में सहुलियत होगी। छत्तीसगढ़ में 2058 प्राथमिक कृषि साख सहकारी समितियां है। इन समितियों में 1365 माइक्रो एटीएम प्रदान किया जा चुका है।

इसे भी पढ़ें -  3 अप्रैल को आएगा छत्तीसगढ़ महतारी वंदन योजना का दूसरा क़िस्त..

आरआईडीएफ योजना से 725 गोदाम निर्माण की स्वीकृति :

नाबार्ड सहायता अंतर्गत आरआईडीएफ योजना से स्वीकृत 725 गोदामों में से 624 गोदाम निर्माण का कार्यादेश जारी किया जा चुका है एवं निर्माण कार्य प्रगति पर है। विशेष सचिव सहकारिता ने अधिकारियों को इन सभी गोदामों का निर्माण वर्षा काल के पूर्व करने का निर्देश दिया गया। नेशनल डेटाबेस के अनुरूप कम्प्यूटराईजेशन किया जाना है। इस संबंध में 2058 पैक्स कम्प्यूटराईजेशन की समीक्षा की गई। अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि इसके लिए समितियों के समस्त लेखा पत्रकों में दर्ज कर उनका 31 मार्च तक मिलान सुनिश्चित कर लिया जाए।

इनको कारण बताओ नोटिस :

बस्तर एवं सरगुजा संभाग में बैंकिंग विस्तार की समीक्षा के दौरान बस्तर संभाग में बैंकिंग विस्तार एवं एटीएम स्थापना के प्रगति पर असंतोष व्यक्त किया गया। इसके लिए जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक जगदलपुर के सीईओ श्री एस. के. जोशी पर कारण बताओ सूचना पत्र जारी करने का निर्देश दिया गया।

नाबार्ड सहायता अंतर्गत आर.आई.डी.एफ. योजना से गोदाम निर्माण की जिलेवार समीक्षा में राजनांदगांव जिले में स्वीकृत गोदाम का निविदा नहीं निकाले जाने पर जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक राजनांदगांव के सीईओ श्री सुधीर सोनी के लिए कारण बताओ सूचना पत्र जारी करने का निर्देश दिया गया।

उप पंजीयक जिला दुर्ग श्री अवधेश मिश्रा को आडिट, अंकेक्षण वसूली एवं समितियोें के परिसमापन की प्रगति संतोषप्रद नहीं पाए जाने पर कारण बताओ सूचना पत्र जारी करने का निर्देश दिया गया।

उप पंजीयक राजनांदगांव के द्वारा बैठक में राजनांदगांव जिले के मेढ़ा समिति में लगभग 2 से 2.50 करोड़ रूपए एवं मुढ़ीपार समिति में 50 लाख रूपये का ऋण असंतुलन प्रकरण की जानकारी दी गई। इस संबंध में जिला सहकारी बैंक राजनांदगांव के सीईओ श्री सुधीर सोनी को दोषी कर्मचारियों के विरूद्ध  एफआईआर दर्ज करने तथा फोरेंसिक आडिट का निर्देश दिया गया। साथ ही संयुक्त पंजीयक संभाग दुर्ग को इन समितियों का स्पेशल आडिट के निर्देश भी दिए गए।

इसे भी पढ़ें -  छत्तीसगढ़ इस जिले के किसानों का kcc बनाने लगेगा शिविर, आसानी से बनेगा किसान क्रेडिट कार्ड

पैक्स कम्प्यूटराईजेशन, नवीन एटीएम स्थापना, माइक्रो एटीएम की उपलब्धता एवं संचालन एवं सहकारी शक्कर कारखाना का संचालन एवं गन्ना क्रय राशि भुगतान की समीक्षा में बिलासपुर जिले में विभागीय योजनाओं एवं गतिविधियों की प्रगति अपेक्षा के अनुरूप नहीं पाये जाने के कारण उप पंजीयक बिलासपुर को स्पष्टीकरण जारी करने का निर्देश दिया गया।

भोरमदेव सहकारी शक्कर कारखाना में निर्माणाधीन ईथेनाल प्लाट स्थापना की समीक्षा की गई। बैठक में अपर पंजीयक श्री हितेश दोशी, अपर पंजीयक श्री एच.के.नागदेव, उप सचिव सहकारिता श्री पी.एस.सर्पराज, संयुक्त पंजीयक श्री उमेश तिवारी, अपेक्स बैंक प्रबंध संचालक श्री के. एन. कान्डे सहित सभी संभागों के संयुक्त पंजीयक और जिलों के उप पंजीयक, सहकारी शक्कर कारखानों के प्रबंध संचालक एवं अपेक्स बैंक के अधिकारी मौजूद थे।


इस Post को आप Share भी कर सकते हैं 👇
error: Content is protected !!