छत्तीसगढ़ में पूरी होगी एक और ‘मोदी की गारंटी’ जनवरी से मिलेगा इस योजना का लाभ.. कैबिनेट बैठक में लिया निर्णय

इस Post को आप Share भी कर सकते हैं 👇

Raipur : छत्तीसगढ़ में भाजपा ने चुनाव के दौरान छत्तीसगढ़ के लोगों के लिए कई सारे घोषणाएं किए थे मोदी की गारंटी में अब उन घोषणाओं को पूरा करने का सिलसिला शुरू हो गया है। आज हम जानेंगे कौन-कौन से वादों को अब तक को पूरा किया जा चुका है और अभी इसी जनवरी में कौन सा वादा को पूरा किया जाएगा। छत्तीसगढ़ में आवास योजना के लिए निर्णय लिया जा चुका है छत्तीसगढ़ के 18 लाख गरीब परिवारों को आवास आने वाले समय पर बनेगा। वहीं दूसरा वादा की बात करें तो 21 क्विंटल प्रति एकड़ किसानों से धान खरीदी का भी घोषणा पूरा किया जा चुका है। इस कड़ी में मुख्यमंत्री विष्णु देव साय और एक वादा को पूरा करने का ऐलान कर दीये है।

मोदी की गारंटी’ जनवरी से मिलेगा इस योजना का लाभ..

खबर अनुसार उप मुख्यमंत्री साव ने कहा कि छत्तीसगढ़ भगवान राम का ननिहाल है। ऐसे में राम मंदिर का निर्माण होते देखना हम सभी का सौभाग्य है। छत्तीसगढ़ के यात्रियों में अयोध्या जाने भारी उत्साह है। बता दें कि भाजपा ने ‘मोदी की गारण्टी’ यानी अपने चुनावी घोषणा पत्र में वादा किया ताकि सरकार बनने पर प्रदेश के लोगों को अयोध्या दर्शन कराया जाएगा। इसी कड़ी में मंदिर के लोकार्पण के बाद यह ट्रेन रवाना की जा रही हैं।

कैबिनेट बैठक में लिया गया महत्वपूर्ण फैसला..

मुख्यमंत्री श्री विष्णु देव साय की अध्यक्षता में मंत्रालय महानदी भवन में मंत्रिपरिषद की बैठक आयोजित हुई बैठक में महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए –

इसे भी पढ़ें -  आज हो सकता है बड़ा ऐलान.. 3100 धान खरीदी, बोनस और आवास योजना.. Chhattisargh विष्णुदेव साय कैबिनेट की पहली बैठक

1. मंत्रिपरिषद की बैठक में माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी द्वारा छत्तीसगढ़वासियों को दी गई गारंटियों में से एक और गारंटी को पूरा करते हुए प्रदेश में श्री रामलला दर्शन (अयोध्या धाम) योजना शुरू करने का महत्वपूर्ण निर्णय लिया गया।

ज्ञातव्य है कि धार्मिक नगरी अयोध्या में श्री रामलला की प्राण प्रतिष्ठा 22 जनवरी को होने जा रही है।

छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा प्रदेशवासियों को श्री रामलला के दर्शन कराने हेतु अयोध्या ले जाने की घोषणा की गई है। जिसके परिपालन में श्री रामलला दर्शन योजना शुरू की जा रही है।

इस योजना का क्रियान्वयन छत्तीसगढ़ पर्यटन मण्डल द्वारा तथा बजट पर्यटन विभाग द्वारा उपलब्ध कराया जाएगा।

इस योजना के तहत हर साल लगभग 20 हजार यात्रियों को श्री रामलला दर्शन हेतु यात्रा पर ले जाया जाएगा।

मोदी की गारंटी

छत्तीसगढ़ राज्य के मूल निवासी, 18 से 75 आयु वर्ग के जो जिला मेडिकल बोर्ड द्वारा स्वास्थ्य परीक्षण में सक्षम पाए जाएंगे, उन्हें यात्रा की पात्रता होगी। दिव्यांगजनों के लिए यथा संभव उनके परिवार से कोई एक सदस्य साथ में रहेंगे।

प्रथम चरण में 55 वर्ष से ऊपर के यात्रियों को यह सुविधा उपलब्ध होगी। इसके पश्चात अन्य आयु वर्ग के लोगों को भी यह सुविधा दी जाएगी।

इसके लिए प्रत्येक जिले में कलेक्टर की अध्यक्षता में श्री रामलला दर्शन समिति बनायी जाएगी। प्रत्येक समिति द्वारा अनुपातिक कोटा के अनुसार हितग्राहियों का चयन किया जाएगा।

इस यात्रा की दूरी लगभग 900 किलोमीटर होगी। इसके लिए भारतीय रेल्वे केटरिंग एवं टूरिज्म कार्पोरेशन (आईआरसीटीसी) के साथ छत्तीसगढ़ पर्यटन मण्डल द्वारा एमओयू किया जाएगा।

आईआरसीटीसी द्वारा यात्रा के दौरान यात्रियों को सुरक्षा, स्वास्थ्य, भोजन, स्थलों के दर्शन, स्थानीय परिवहन तथा एस्कार्ट की व्यवस्था की जाएगी।

इसे भी पढ़ें -  छत्तीसगढ़ महतारी वंदन योजना, महिला एवं बाल विकास मंत्री लक्ष्मी राजवाड़े ने दी बड़ी जानकारी जल्द शुरू होगी योजना.. 

हितग्राहियों को उनके निवास से निर्धारित रेल्वे स्टेशन तक लाने एवं वापस ले जाने की व्यवस्था संबंधित जिला कलेक्टर द्वारा की जाएगी। इसके लिए उन्हें बजट उपलब्ध कराया जाएगा।

प्रत्येक जिले से यात्रियों के साथ एक सक्षम शासकीय अधिकारी अथवा एक छोटा दल भेजा जाएगा।

यात्री दुर्ग-रायपुर, रायगढ़ एवं अंबिकापुर से रेल द्वारा गन्तव्य स्थल के लिए रवाना होंगे।

यात्रा का मूल गन्तव्य अयोध्या धाम रहेगा। इसके साथ ही वाराणसी में एक दिन का रात्रि विश्राम, काशी विश्वनाथ मंदिर एवं कॉरीडोर तथा गंगा आरती का दर्शन का लाभ भी यात्रियों को मिल सकेगा।

वर्तमान में आईआरसीटीसी द्वारा प्रत्येक सप्ताह में एक ट्रेन उपलब्ध करायी जाएगी। भविष्य में ट्रेन की उपलब्धता अनुसार यात्रियों की संख्या में बढ़ोत्तरी की जा सकेगी।

2. मंत्रिपरिषद की बैठक में छत्तीसगढ़ राज्य के महाधिवक्ता के पद पर श्री प्रफुल्ल भारत की नियुक्ति करने का निर्णय लिया गया।


इस Post को आप Share भी कर सकते हैं 👇
error: Content is protected !!