Chhattisgarh इस जिले के किसानों के लिए सुनहरा मौका, 13 से 31 मार्च तक किसान क्रेडिट कार्ड(Kcc) बनाने लगेंगे शिविर

इस Post को आप Share भी कर सकते हैं 👇

रायगढ़ : कलेक्टर श्री तारन प्रकाश सिन्हा के निर्देश पर कृषि व संबंधित कार्यों से जुड़े किसानों के व्यापक स्तर पर किसान क्रेडिट कार्ड बनाने शिविर आयोजित होने जा रहे हैं। यह शिविर 13 मार्च से 31 मार्च तक प्रत्येक सोमवार, बुधवार और शुक्रवार को लगाए जायेंगे। शिविर का आयोजन संबंधित ब्लॉक के जनपद पंचायत कार्यालय में प्रात: 11 बजे से किया जाएगा। कलेक्टर श्री सिन्हा ने किसानों को अधिक से अधिक संख्या में शिविर का लाभ लेकर केसीसी बनवाने की अपील की है।

गौरतलब है कि पिछले दिनों समीक्षा बैठकों में कलेक्टर श्री सिन्हा ने जिले में केसीसी निर्माण की समीक्षा की थी। कम संख्या में केसीसी प्रकरणों की स्वीकृति और निर्माण की धीमी गति को लेकर नाराजगी जताई थी और शिविर लगाकर किसानों के केसीसी बनाने के निर्देश सभी संबंधित अधिकारियों को दिए थे। उनके निर्देश के अनुरूप केसीसी बनाने शिविर आयोजित किए जा रहे हैं।

नोडल अधिकारी, अपेक्स बैंक से मिली जानकारी अनुसार जिले के 69 सहकारी समितियों में 13 मार्च 2023 से 31 मार्च 2023 के मध्य प्रत्येक विकासखण्ड के जनपद पंचायत में किसान क्रेडिट कार्ड शिविर के आयोजन किये जा रहे हैं। इन तिथियों के बीच प्रति सप्ताह के तीन दिन क्रमश: सोमवार, बुधवार एवं शुक्रवार को विकासखण्ड के जनपद कार्यालय के सभागार में शिविर का आयोजन होगा। इस शिविर में पशु चिकित्सा विभाग, मत्स्य विभाग, उद्यानिकी विभाग एवं कृषि विभाग के अधिकारी गण तथा फील्ड स्तर के कर्मचारीगण उपस्थित रहेंगे। किसान हितग्राहियों की पात्रता के आधार पर नियमानुसार किसान क्रेडिट कार्ड तैयार किये जाने हेतु सभी प्रकार की दस्तावेजी कार्यवाही शिविर स्थल पर ही की जावेगी। शिविर प्रात: 11 बजे से प्रारम्भ किया जावेगा।

इसे भी पढ़ें -  पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति के लिए आवेदन 14 मार्च तक, Application for post matric scholarship till 14 March 

केसीसी से किसानों को मिलता है ब्याजमुक्त ऋण

किसान क्रेडिट कार्ड योजना से किसान कम ब्याज दरों में कृषि व संबंधित कार्यों के लिए बैंको से ऋण ले सकते हैं। जिससे उन्हें अपने खेती-किसानी के कामों के लिए कार्यशील पूंजी मिल जाती है। केसीसी से किसानों को कृषि कार्यों के लिए ब्याजमुक्त अल्पकालीन ऋण मिलता है। पशुपालन, मछली पालन और उद्यानिकी कार्यों के लिए भी अल्पकालीन ऋण दिया है। पशु पालन हेतु 2.00 लाख तक का ऋण 1 प्रतिशत ब्याज दर पर एवं रूपये 2 लाख से अधिक एवं रूपये 3 लाख तक के ऋण 3 प्रतिशत ब्याज दर पर दिया जाता है। मत्स्य पालन व उद्यानिकी कार्यों हेतु 3 लाख तक दिये जाने वाला ऋण, अल्पकालीन कृषि ऋण के समान ब्याज मुक्त (0 प्रतिशत ब्याज दर) होता है।

शिविर में इन दस्तावेजों की होगी जरूरत

अपेक्स बैंक के नोडल अधिकारी ने बताया कि शिविर में केसीसी बनवाने के लिए फोटो, आधार कार्ड और बी-1 की कॉपी लगेगी। यदि हितग्राही किसी सहकारी समिति का सदस्य नहीं है तो 110 रुपए शुल्क देय होगा।


इस Post को आप Share भी कर सकते हैं 👇
error: Content is protected !!