फिलहाल धान खरीदी ठप.. टोकन निरस्त.. किसानों की बढ़ी परेशानी.. जारी है छत्तीसगढ़ में बेमौसम बारिश मिचौंग तूफान का असर

इस Post को आप Share भी कर सकते हैं 👇

Chhattisagrh kisan samachar : छत्तीसगढ़ समेत  अन्य राज्यों और कई जगहों पर इन दिनों बेमौसम बारिश जारी है पिछले दो-चार दिनों से लगातार बारिश हो रही है। बदली छाई हुई है ठंड भी बढ़ रहा है। वहीं किसानों की समस्या बढ़ गई है किसान इन दिनों अपनी फसल कटाई पर लगे हुए हैं और जिनका फसल कट गया है वह धान बेचने की तैयारी कर रहे हैं । पर इस बीच बे मौसम बारिश ने सब पर पानी फेर दिया है कई धान खरीदी केंद्र खराब मौसम के चलते धान खरीदी फिलहाल बंद करने की सूचना दे रहे है। तो वहीं कई किसानों के धन खेतों पर पड़े हुए नजर आ रही है। इसका कारण मिचौंग तूफान बताया जा रहा है। मिचौंग तूफान का असर छत्तीसगढ़ में भी दिखने लगा है। 

सोमवार से प्रदेश में बादल छाए हुए हैं और कुछ जिलों में हल्की बारिश का दौर भी जारी है। रायपुर मौसम विभाग की माने तो मिचौंग तूफान के चलते छत्तीसगढ़ के मौसम में तेजी से बदलाव देखने को मिल रहा है। अगले तीन दिन याने 5, 6 और 7 दिसम्बर को प्रदेश के कई इलाकों में आंधी तूफान के साथ झमाझम बारिश हो सकती है। मौसम विभाग ने अगले तीन दिनों केलिए येलो अलर्ट जारी किया है। 

क्या? कहते हैं मौसम विज्ञानियों 

मौसम विज्ञानियों का कहना है कि बुधवार को प्रदेशभर में आंशिक रूप से बादल छाए रहेंगे और हल्की बारिश के आसार हैं। गुरुवार और शुक्रवार की सुबह घना कोहरा छाया रहेगा। दुर्ग, बिलासपुर और रायपुर संभाग के जिलों में मध्यम बारिश होगी, जबकि सरगुजा संभाग के जिलों में हल्की वर्षा होने की संभावना है। भारी बारिश का क्षेत्र मुख्यतः बस्तर संभाग के जिले हो सकते हैं।

इसे भी पढ़ें -  देखिये प्रधानमंत्री मोदी ने क्या कहा ? छत्तीसगढ़ के लोगों और किसानों के लिए.. Cm ने कहा आवास योजना, धान बोनस, 3100 रु धान खरीदी और भी बहुत कुछ.. 

फिलहाल धान कटाई व धान खरीदी हुआ ठप टोकन हुआ निरस्त..

लगातार खराब मौसम के चलते फिलहाल धान कटाई पर ब्रेक लगा हुआ है। ऐसे खराब मौसम के चलते किसान कोई रिक्स लेना नहीं चाहते और अब तक का जो धान कटा हुआ है वह खेत पर पड़ा हुआ है ऐसे में किसानों को नुकसान होने का अनुमान भी है। किसान इस वक्त अपने फ़सलों को नुकसान होने से बचाने पर लगे हैं। इस साल धान का दाम ज्यादा मिलने की उम्मीद है और ऐसे में अगर किसानों को इस बेमौसम बारिश से फसल का नुकसान होता है तो किसानों को बहुत ही नुकसान हो सकता है। किसान बिल्कुल नहीं चाहेगा कि उसकी फसल नुकसान हो जाए ।

वहीं छत्तीसगढ़ में 01 नवम्बर से समर्थन मूल्य पर  धान खरीदी भी जारी है हालांकि अभी खराब मौसम बेमौसम बारिश के चलते धान खरीदी ठप होने की जानकारी सामने आई है। और जैसे ही मौसम साफ हो जाएगा धान खरीदी का काम फिर से शुरू हो जाएगा। कई धान खरीदी केंद्र में यह सूचना दिया गया है कि खराब मौसम के चलते फिलहाल धान खरीदी नहीं होगा। मौसम खुलने पर धान खरीदी का काम फिर से शुरू हो जाएगा। 

जांजगीर चांपा की खबर है 3 दिसंबर का इंतजार कर रहे किसान अब जल्द से जल्द धान बेचना चाह रहे थे कि ठीक ऐन मौके पर बेमौसम बारिश के चलते जिले में धान खरीदी ही ठप पड़ गई है। मंगलवार को जिले में कहीं भी खरीदी नहीं हुई। करीब 104 उपार्जन केंद्रों के लिए 45 हजार क्विंटल से ज्यादा का टोकन कटा था जो निरस्त हो गया। वहीं आगामी दो से तीन दिनों तक बारिश की चेतावनी है। ऐसे में शुक्रवार तक किसानों का टोकन नहीं काटा जाएगा और इस हफ्ते खरीदी पूरी तरह से ठप रहेगी। आगे मौसम अच्छा रहा तो सोमवार से ही धान खरीदी फिर से पटरी पर आ पाएगी।

इसे भी पढ़ें -  छत्तीसगढ़ धान खरीदी नई अप्डेट्स, 31 जनवरी तक समर्थन मूल्य पर होगी धान खरीदी किसानों को 23448 करोड़ रूपए भुगतान..


इस Post को आप Share भी कर सकते हैं 👇
error: Content is protected !!