धान खरीदी छत्तीसगढ़ किसानों का पंजीयन 31 अक्टूबर से बढ़कर अब 21 नवम्बर तक, मिलेगा समर्थन मूल्य व किसान न्याय योजना का लाभ

इस Post को आप Share भी कर सकते हैं 👇

Last updated on November 21st, 2022 at 06:11 am

 

Chhattisgarh dhan kharidi 2022-23 : छत्तीसगढ़ के धान उत्पादक किसान भाइयों के लिए राज्य सरकार ने उनकी तकलीफों को देखते हुए पहले तो धान खरीदी केंद्रों की संख्या में वृद्धि करते हुए हाल ही में दो दर्जन से ज्यादा नए धान खरीदी केंद्रों की अनुमति दिया है। जिससे कि किसान अपने नजदीक की खरीदी केंद्र में जाकर आसानी से अपना धान बेच सकेंगे और समर्थन मूल्य(msp) का लाभ ले सकेंगे इसके अलावा किसान भाइयों सरकार ने और एक बड़ा राहत दे दिया है । जी हाँ अब ऐसे कई किसान जो शासन द्वारा निर्धारण तिथि यानी तारीख पर पंजीयन(cg kisan panjiyan) नहीं कर पाए थे। जो कि 31 अक्टूबर 2022 तक था ऐसे किसानों को अब सरकार ने राहत देते हुए पंजीयन की अंतिम तिथि को और बढ़ा दिया है। इसका फायदा यह होगा कि जो किसान अब तक समर्थन मूल्य पर धान बेचने और राजीव गांधी किसान न्याय योजना का लाभ लेने से वंचित हो रहे थे वह अब पंजीयन करा सकते हैं और इन योजनाओं का लाभ ले सकते हैं।

 

 

अब छत्तीसगढ़ के ऐसे किसान जो किसी कारणवश पंजीयन नहीं करा पाए थे साथ ही ऐसे किसान जिनके रकबा घट गया हो या शून्य रकबा का स्टेटस दिखा रहा हो या अन्य किसान पंजीयन सम्बन्धित समस्या हो इसके लिए सरकार ने 21 नवंबर 2022 तक पंजीयन कराने का मोहलत दे दिया है किसान तहसील माड्यूल से नया पंजीयन या संसोधन करा सकते हैं। धान खरीदी के लिए किसान पंजीयन का काम कृषि विभाग(agriculture department) के एकीकृत किसान पोर्टल के ज़रिए 31 अक्टूबर तक किया जाना था। लेकिन इस समय सीमा के बाद भी पंजीयन के लिए छूटे हुए किसान, नए किसान पंजीयन, पंजीयन में शून्य रकबा या रकबा कम होना, खरीदी केंद्रों से छूटे हुए गांवों की मैपिंग या गांवों का खरीदी केंद्र परिवर्तन, वन अधिकार पट्टा, डूबान क्षेत्र से संबंधित पंजीयन आदि के कुछ मामले बचे हुए थे। इसके लिए पंजीयन करने की अनुमति देते हुए प्रदेश में राज्य शासन ने आगामी 21 नवंबर तक इसे पूरा करने के निर्देश दिए हैं।

इसे भी पढ़ें -  छत्तीसगढ़ टॉप काम की खबरें : इन गांव में धारा 144 लागू.. कैसा रहेगा आज का मौसम.. लिखित परीक्षा 28 अप्रैल को..

 

नए धान खरीदी केंद्र की मिली अनुमति :

 

किसानों के उत्साह को देखते हुए इस बार धान बेचने वाले किसानों के लिए सरकार ने उनकी सुविधा के लिए पहले 28 और अब 47 नए धान खरीदी केंद्र को अनुमति दे दी है जिससे किसानों को बड़ी राहत मिलने वाली है अक्सर किसानों को अपना धान बेचने ले जाने के लिए दूरियों का सामना करना पड़ता था अब सरकार का मंशा है कि किसानों का खर्चा भी कम हो और आसानी से सफलतापूर्वक किसानों से धान खरीदी(dhan kharidi) हो ताकि किसान कम खर्चा यानी गाड़ियों का किराया कम पड़े। किसानों को हर संभव मदद के लिए लगातार प्रयास जारी है छत्तीसगढ़ में 47 नए धान खरीदी केंद्र की अनुमति मिली है जिसका लाभ(benefit) क्षेत्रीय किसानों को मिलेगा। राज्य सरकार द्वारा किसानों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए खरीफ विपणन वर्ष 2022-23 एवं आगामी खरीफ विपणन वर्षों के लिए 47 नए धान खरीदी केन्द्र(chhattisgarh new dhan kharidi kendr 2022-23) खोलने की अनुमति प्रदान की गई है। धान खरीदी केन्द्रों में नियमों के अनुरूप सभी आवश्यक सुविधाएं सुनिश्चित करने को कहा गया है।

 

 


इस Post को आप Share भी कर सकते हैं 👇
error: Content is protected !!