मुनाफा वाली फसल.. किसान इसकी भी खेती करके कमा सकते हैं लाभ..

इस Post को आप Share भी कर सकते हैं 👇

किसान समाचार : वैसे तो हमारे किसान भाई कई तरह के फैसले अपने खेतों पर लगाते हैं जिनके अपने अलग-अलग दाम होते हैं ज्यादातर हमारे किसान भाई अपने खेतों पर धान मक्का गेहूं दलहन तिलहन इस तरह की फसल लगते हैं और आय अर्जित करते हैं। लेकिन इन फसल के साथ और भी कई तरह के फैसले होती हैं जिसको अगर आप लगते हैं तो अतिरिक्त आय भी कमा सकते हैं, आज के इस पोस्ट पर हम यही जानेंगे कि आप अपने नियमित खेती के साथ अगर इस तरह के फसल की खेती भी करते हैं तो आप लाभ कमा सकते हैं। 

किसान भाई ध्यान रखें इन बातों को

किसान भाइयों अगर आप कोई भी फसल लगाते हो तो फसल लगाने से पहले यह सुनिश्चित कर लेना जरूरी होता है कि जो आप फसल अपने खेत पर लगाने जा रहे हैं क्या उस फसल के लिए आपका जमीन उपयुक्त है या नहीं, उस फसल के लिए कितनी मात्रा में पानी की आवश्यकता है तो पानी की व्यवस्था आपके पास है या नहीं, साथ ही उर्वरक खाद को भी आपको ध्यान में रखकर चलना है तब जाकर आप कोई भी फसल हो उसकी अच्छी पैदावार ले सकते हैं। 

बाजार में इस फसल की डिमांड..

किसान भइयों अगर आप भी ऐसी ही फसल उगाने के बारे में सोच रहे हैं तो आप एलोवेरा की खेती भी कर सकते हैं। बताया जा रहा है इन दिनों बाजार में इस चीज की काफी डिमांड है। एलोवेरा का उपयोग दवा, फिटनेस, हर्बल उत्पाद और सौंदर्य प्रसाधन आदि में किया जाता है। कई बड़ी कंपनियां इसे ऊंचे दामों पर खरीदने के लिए तैयार रहती हैं। ऐसे में यह आपके लिए एक अच्छा बिजनेस हो सकता है। 

इसे भी पढ़ें -  CG Open School Result: छत्तीसगढ़ ओपन 10वी 12वी रिजल्ट कल होगा जारी..

मांग के अनुरूप एलोवेरा की खेती न होने के कारण देश-विदेश की कई बड़ी कंपनियों को अच्छी गुणवत्ता वाला एलोवेरा नहीं मिल पाता है। यही कारण है कि एलोवेरा की खेती अब फायदे का सौदा बन गई है। 

एलोवेरा की खेती कैसे करें ? 

किसान भइयों एलोवेरा की खेती ट्रांसप्लांटेशन के जरिए की जाती है यानी आपको पौधे लाकर लगाने होंगे। इसकी खेती के लिए बारिश का मौसम अच्छा माना जाता है लेकिन आप इसकी शुरुआत फरवरी से अगस्त के बीच कभी भी कर सकते हैं।  

प्रति एकड़ – जानकारी अनुसार एक एकड़ जमीन में लगभग 10 हजार एलोवेरा के पौधे लगाए जा सकते हैं। 

एलोवेरा का उत्पादन – कंपनियों की मांग के मुताबिक अच्छी गुणवत्ता वाले एलोवेरा का उत्पादन करते हैं तो आप इसके जरिए लाखों रुपये कमा सकते हैं। 

मिट्टी और जलवायु – पौधों की संख्या मिट्टी और जलवायु के प्रकार पर निर्भर करती है। जिस जलवायु में पौधे अधिक उगते हैं और अधिक फैलते हैं, वहां पौधों के बीच अधिक दूरी रखी जाती है। जहां पौधे कम बढ़ते हैं वहां उनके बीच की दूरी कम रखी जाती है। 

खेती रेतीली और दोमट मिट्टी – एलोवेरा की खेती की सबसे अच्छी बात यह है कि इसमें बहुत कम पानी की आवश्यकता होती है। इसकी खेती रेतीली और दोमट मिट्टी में की जा सकती है.

सावधानी – एलोवेरा की खेती के लिए आपको ऐसी भूमि का चयन करना चाहिए जहां जल निकासी की पूरी व्यवस्था हो. इसकी खेती उस भूमि पर नहीं की जा सकती जिसमें पानी जमा रहता हो। एलोवेरा की खेती उन जगहों पर भी नहीं की जा सकती जहां बहुत ठंड होती है। सूखे इलाकों में एलोवेरा की खेती करना ज्यादा फायदेमंद होता है।

इसे भी पढ़ें -  धान की अधिक पैदावार कैसे मिलेगा ? कम लागत में अधिक मुनाफा.. देखिये वीडियो उन्नत धान की खेती कैसे करें? जानिये क्या कहते हैं विशेषज्ञ..

किसान भाई ध्यान रखें – किसान भाइयों अगर आप एलोवेरा की खेती करना चाहते हैं तो सबसे पहले एलोवेरा की खेती करने के संबंध में पूरी जानकारी इकट्ठा कर ले जब आपको इसकी खेती की पूरी जानकारी होगी तभी आप इसकी खेती की शुरुआत कर सकते हैं। इंटरनेट पर इस संबंध में अधिक जानकारी मिल पाना मुश्किल है बेहतर रहेगा आप अपने क्षेत्र की कृषि विभाग या कृषि अधिकारी से संपर्क करें। 

इसे भी पढ़े ताजा अप्डेट्स 

2024 किसान क्रेडिट कार्ड में कितना रुपये तक का लोन मिल सकता है? कैसे करें आवेदन जाने विस्तार से..

Google news पर पढ़े योजनाओं की अप्डेट्स

खेती किसानी योजनाओं की जानकारी आप लोगों को हमारे Youtube चैनल, Whatsapp चैनल, Telegram चैनल पर भी मिलेगा अभी नीचे के दिये बटन से आप भी जुड़ सकते हैं।


इस Post को आप Share भी कर सकते हैं 👇
error: Content is protected !!