छत्तीसगढ़ किसानों और मजदूरों के लिए खुशखबरी! धान बोनस & 3100 रु धान प्रति क्विंटल, देखिए किसानों और मजदूरों के लिए घोषणाएं.. 

इस Post को आप Share भी कर सकते हैं 👇

Chhattisgarh Yojana 2024 : छत्तीसगढ़ के 13 लाख से ज्यादा किसानों के बैंक खाते में इसी महीने करोड़ों रुपये आने वाले है। जो किसान 2017 और 2018 में धान बेचे थे उन किसानों के खाते में बकाया धान बोनस की राशि सरकार डालने जा रही है। किसानों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए। किसानों  की आर्थिक स्थिति में सुधार करने के लिए राज्य सरकार व केंद्र सरकार विभिन्न योजनाओं के माध्यम से किसानों तक लाभ पहुंचाने के लिए योजनाएं बनाये हैं। ताकि किसानों को फायदा मिल सके इस बार छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव के दौरान भाजपा की ओर से घोषणा पत्र में छत्तीसगढ़ के किसानों और मजदूरों (cg kisan & majdur yojana) के लिए कई वादे की गई है जो कि आज हम इस पोस्ट में जानने वाले हैं। To make farmers self-reliant. To improve the economic condition of farmers, the state government and the central government are implementing various schemes.

क्या? कहते हैं छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय :

बकाया धान बोनस(dhan bonus) को लेकर विष्णुदेव साय ने 25 दिसंबर को प्रदेश के 13 लाख 28 हजार किसानों को दो साल के बकाया धान बोनस का भुगतान करने का ऐलान किए हैं। साथ ही उन्होंने पीएम मोदी की सभी गारंटियों को पूरा करने की बात कही। साय ने कहा, कि बीजेपी सरकार अपने संकल्पों को सर्वोच्च प्राथमिकता के साथ पूरे करेगी। हम अभी से जनता के सपनों को पूरा करने में जुटेंगे।

इसे भी पढ़ें -  छत्तीसगढ़ के किसानों, भूमिहीन मजदूरों, विवाहित महिलाओं व बेरोजगार युवाओं के लिए योजना सीधा खाता में आएंगे पैसा.. जाने विस्तार से.. 

तो इस तरह ख़बर अनुसार प्रदेश के किसानों का साल 2016-17 और 2017-18 का बोनस बकाया है। 300 रुपए प्रति क्विंटल की दर से बोनस की राशि दी जाएगी। राष्ट्रीय सुशासन दिवस 25 दिसंबर के अवसर पर विष्णुदेव सरकार इस राशि को वितरण करेगी। Bonus of farmers for the year 2016-17 and 2017-18 is outstanding. Bonus amount will be given at the rate of Rs 300 per quintal.

छत्तीसगढ़ किसानों व मजदूरों के लिए घोषणाएं :

भाजपा वैसे तो 20 से ज्यादा घोषणाएं छत्तीसगढ़ के लोगों के लिए किए हैं। लेकिन आज हम बात करेंगे किसानों व मजदूरों के लिए किए गए घोषणाओं पर बीजेपी ने अपने घोषणा पत्र में प्रदेश के लिए ‘मोदी की गारंटी 2023’ नाम से संकल्प पत्र जारी किया था। इस संकल्प पत्र में 20 घोषणाएं हैं। इनमें वर्ष 2016-17 और 2017-18 का बकाया बोनस 300 रुपए प्रति क्विंटल की दर से देने की बात कही गई है। खबरों के मुताबिक, बीजेपी 13 लाख 28 हजार किसानों को पांच हजार करोड़ रुपए से ज्यादा बोनस का बकाया भुगतान करेगी। और यह पैसे सीधा किसानों के बैंक खातों में ट्रांसफर किए जाएंगे आगामी 25 दिसंबर को। 

छत्तीसगढ़ के किसानों व मजदूरों के लिए घोषणा में 3100 रुपये धान का दाम यानी छत्तीसगढ़ के किसानों को प्रति क्विंटल धान का मूल्य 3100 रुपये एकमुश्त मिलेंगे। और मजदूरों को सालाना 10 हजार रुपये मिलेंगे। इसके लिए शायद कोई योजना भी बनाया जा सकता है। साथ ही किसानों से प्रति एकड़ 21 क्विंटल धान खरीदी करने का वादा भी भाजपा ने किया है। मजदूरों के लिए बात करें तो भूमिहीन मज़दूरों को सालाना 10 हजार रुपये देने के वादे किए है। इसके लिए भी योजना बनाया जा सकता है। In the announcement for the farmers and laborers of Chhattisgarh, the price of paddy is Rs 3100, that is, the farmers of Chhattisgarh will get a lump sum price of Rs 3100 per quintal of paddy. And the workers will get Rs 10,000 annually.

इसे भी पढ़ें -  छत्तीसगढ़ के इस जिले में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि हेतु ग्राम पंचायतों में होगा ई-केवाईसी शिविर का आयोजन, हितग्राहियों के लिए सुविधा

▪️ ‘कृषक उन्नति योजना’ की शुरुआत करेंगे। 21 क्विंटल प्रति एकड़ धान की खरीदी 3100 रुपए में करेंगे। एकमुश्त देंगे भुगतान।

• तेंदूपत्ता संग्रहण 5500 रुपए प्रति मानक बोरा। चरण पादुका योजना फिर शुरू करेंगे। अतिरिक्त संग्रहण पर रु. 4500 बोनस देंगे।

▪️ ‘दीनदयाल उपाध्याय कृषि मजदूर कल्याण’ योजना के तहत खेतिहर मजदूर को सालाना 10 हजार रुपए देंगे।


इस Post को आप Share भी कर सकते हैं 👇
error: Content is protected !!