इन बैंक खातों में सभी सरकारी योजनाओं के पैसे आसानी से आ जाएंगे.. जानिए कैसे करें एक्टिव.. 

इस Post को आप Share भी कर सकते हैं 👇

योजनाओं का लाभ : बैंक खातों सम्बंधित जानकारी, सरकार की ओर से कई तरह के सरकारी योजना लोगों के लिए चलाया जा रहा है इन योजना के तहत हितग्राहियों को सहायता राशि दिया जाता है जिसके लिए योजना के तहत पात्र हितग्राहियों के पास बैंक खाता होना आवश्यक है ताकि योजना के तहत मिलने वाली सहायता राशि सीधे हितग्राहियों के बैंक खातों पर अंतरित हो सके। सरकार द्वारा विभिन्न योजनाएं देश के किसानों, महिलाओं, मजदूरों के लिए चलाए जा रहा है और इन योजना का लाभ सीधे हितग्राहियों तक पहुंचने के लिए ऑनलाइन व्यवस्था भी किया गया है। 

ऑनलाइन व्यवस्था में योजनाओं के लाभ सीधे हितग्राहियों को ऑनलाइन ट्रांसफर किए जाते हैं ऐसे में अगर की हितग्राहियों के पास बैंक खाता नहीं होने की स्थिति में योजनाओं के लाभ से वंचित हो सकते हैं और जिन लोगों के पास बैंक खाता है लेकिन उनमें कुछ आवश्यक अपडेट अगर नहीं किए गए हैं तो भी वह योजना के लाभ से वंचित हो सकते हैं। तो आज के इस पोस्ट पर हम आप लोगों के साथ कुछ जानकारियां शेयर करेंगे बैंक खातों के संबंध में जिससे कि सरकारी योजना का लाभ आप तक आसानी से पहुंच सके तो पूरी जानकारी के लिए पूरी पोस्ट पर बने रहिएगा। 

बैंक खातों में डीबीटी जरूरी..

सरकारी योजनाओं के तहत जारी की जाने वाली सहायता राशि सीधे योजनाओं के पात्र हितग्राहियों के बैंक खातों पर ट्रांसफर किए जाते हैं ऐसे में बैंक खातों में आधार सीडिंग और डीबीटी इनेबल होना आवश्यक है। इसके बिना योजनाओं के लाभ से वंचित हो सकते हैं। डीबीटी का मतलब डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर होता है यानी की योजना के तहत जारी होने वाली राशि सीधे हितग्राहियों के बैंक खातों में ट्रांसफर किया जाता है। DBT in bank accounts.

इसे भी पढ़ें -  इन मोबाइल एप से मतदाताओं को कई सुविधा.. ई-एपिक डाउनलोड, नाम जोड़ने, विलोपन, संशोधन और भी बहुत कुछ..

बैंक खातों में आधार सीडिंग..

बैंक खातों में आधार सीडिंग भी जरूरी होता है जब आप बैंक में खाता खोलना जाते हैं तब आपसे आधार कार्ड मांगा जाता है ताकि आप लोगों का बैंक खाते के साथ आधार लिंक हो सके। वर्तमान स्थिति में देखें तो बैंक खातों में आधार लिंक जरूरी कर दिया गया है जिससे कि खाताधारक आसानी से अपना लेनदेन कर सके। आजकल ऑनलाइन यूपीआई के माध्यम से खाताधारक ऑनलाइन आसानी से पैसों का लेनदेन कर सकते हैं इसके अलावा और भी कई तरह के लाभ व सुविधा मिलता है इसके लिए बैंक खातों में आधार लिंक होना आवश्यक है। Aadhaar seeding in bank accounts.

बैंक खातों में आधार सीडिंग व डीबीटी एक्टिव कैसे करें? 

आप किसी भी बैंक में खाता खोलें सभी बैंक में आधार सीडिंग व डीबीटी इनेबल करने का काम किया जाता है जिस भी बैंक में आप खाता खोलते हैं और जब आप खाता खोलते वक्त आधार कार्ड का फोटो कॉपी जमा करते हैं उसी के तहत आपके बैंक में अकाउंट खोली जाती है। इस तरह से आप लोगों का आधार कार्ड बैंक खाता से लिंक हो जाता है। 

सभी बैंक में डीबीटी इनेबल करने का और आधार का बैंक खातों के साथ लिंक करने का सुविधा दिया गया है अगर आप किसी सरकारी योजना के हितग्राही हैं और योजना का लाभ आपको लेना है तो उस स्थिति पर आपको अपने बैंक में जाकर डीबीटी इनेबल करने के लिए फार्म जमा करना होगा। उसके कुछ दिन बाद आपका बैंक खाता में डीबीटी इनेबल हो जाता है। How to activate Aadhaar seeding and DBT in bank accounts?

सरकारी योजनाओं का लाभ..

सरकारी योजनाओं के तहत मिलने वाला लाभ आप लोगों तक पहुंचे इसके लिए अगर आप किसी सरकारी योजनाओं की तहत पात्र लाभार्थी है और आप लोगों तक योजना के लाभ आसानी से पहुंच सके इसके लिए कुछ बातों को आप लोगों को ध्यान में रखना है और अपने बैंक खातों में उसको एक्टिव भी करना है तब आप लोगों को योजना के तहत मिलने वाला लाभ आपके बैंक खातों तक पहुंचने में आसानी होगी। इसके लिए सबसे जरूरी है ई-केवाईसी, आधार सीडिंग, डीबीटी इनेबल Benefits of government schemes.

इसे भी पढ़ें -  सभी राशनकार्ड वालों के लिए जरूरी खबर.. आज ही करले ये काम, इस सूची में नहीं होना चाहिए था आपका नाम.. 

ई-केवाईसी व आधार सीडिंग कैसे करें ? 

ई-केवाईसी बहुत ही आसानी से आपके बैंक द्वारा कर दिया जाता है जब आप बैंक पर खाता खोलने जाते हैं तब आप अपना पूरा डिटेल फॉर्म में भरकर जमा करते हैं। जिसमें आपका आधार कार्ड का फोटो कॉपी, पैन कार्ड का फोटो कॉपी, वोटर आईडी का फोटो कॉपी और पासपोर्ट फोटो और आपका एक मोबाइल नंबर इस तरह से आप अपना पूरी डिटेल अपने बैंक को फॉर्म के साथ जमा करते हैं तो इस तरह से आप लोगों का ई-केवाईसी आसानी से हो जाता है। How to do e-KYC and Aadhaar seeding?

बैंक खातों में डीबीटी इनेबल कैसे करें ? 

सबसे पहले आप अपना बैंक जाएंगे बैंक में डीबीटी इनेबल करने के लिए एक फॉर्म भरना होगा फॉर्म आपके बैंक पर आसानी से मिल जाता है डीबीटी फार्म पर अपनी पूरी जानकारी सही से भर देंगे जिसमें आपके बैंक खाते का नंबर आपका मोबाइल नंबर आधार नंबर इस तरह के जो जानकारी मांगी गई है वह सभी जानकारी को आप लोगों को सही से भरना है और उसके बाद जो डॉक्यूमेंट मांगा जाता है बैंक की ओर से उन सारे डॉक्यूमेंट को फोटो कॉपी करके फॉर्म के साथ बैंक में जमा करना है। How to enable DBT in bank accounts?

डॉक्यूमेंट में आधार कार्ड का फोटो कॉपी आपके बैंक पासबुक का फोटो कॉपी, पैनकार्ड, मोबाइल नंबर मांगी जाती है मांगे गए सभी डॉक्यूमेंट को आपको फोटो कॉपी करके बैंक में फार्म के साथ जमा कर देंगे तो इस तरह से आप लोगों का डीबीटी भी कुछ दिन बाद इनेबल हो जाता है। 

इसे भी पढ़ें -  योजनाओं के लाभार्थियों के लिए जरूरी काम की बात.. आपके खाते में NPCI आधार लिंक ऑनलाइन चेक कैसे करें ? 

सारांश : हमने इस पोस्ट में बैंक खातों में डीबीटी सम्बंधित जानकारी साझा किये हैं। आसान शब्दों पर कहे तो सरकारी योजनाओं के तहत सहयता राशि डीबीटी खातों पर जारी किए जाते हैं। अगर आप किसी सरकारी योजना के लाभ लेने जा रहे हैं और आपका भी बैंक खाता है तो आप लोगों को इन बातों का ध्यान रखना चाहिए कि आपके बैंक खातों पर ई केवाईसी है या नहीं, बैंक खातों पर डीबीटी इनेबल है या नहीं..

अगर आपके खाते पर डीबीटी इनेबल नहीं है या केवाईसी नहीं है तो ऐसे स्थिति पर आप योजना के लाभ से वंचित हो सकते हैं इसीलिए अगर आपकी बैंक खातों पर डीबीटी इनेबल नहीं है या फिर केवाईसी नहीं है तो इस स्थिति पर आप अपने बैंक जाकर आवश्यक कार्रवाई पूरा कीजिए जिससे आप लोगों के बैंक खातों में डीबीटी और केवाईसी एक्टिव हो सके और आप भी सरकार द्वारा दी जा रही योजनाओं का लाभ ले सके। 

इसे भी पढ़े ताजा अप्डेट्स 

आपके कौन सा बैंक खाता में डीबीटी चालू है कैसे देखें? आएंगे योजनाओं के पैसे.. डीबीटी चेक कैसे करें ?

Google news पर पढ़े योजनाओं की अप्डेट्स

its chhattisgarh छत्तीसगढ़ खेती किसानी व अन्य योजनाओं की जानकारी आप लोगों को हमारे Youtube चैनल, Whatsapp चैनल, Telegram चैनल पर भी मिलेगा अभी नीचे के दिये बटन से आप भी जुड़ सकते हैं।


इस Post को आप Share भी कर सकते हैं 👇
error: Content is protected !!