गाँव के पंच से मुख्यमंत्री तक विष्णुदेव साय जी के राजनीतिक सफ़र , छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री बनने तक के यात्रा, Motivation Story Chief Minister Vishnudev Sai Chhattisgarh

इस Post को आप Share भी कर सकते हैं 👇

 

Cm Vishnudev Sai Chhattisgarh : छत्तीसगढ़ के नवनियुक्त मुख्यमंत्री श्री विष्णुदेव साईं जी की राजनीति के सफर के बारे में आज हम जानने वाले हैं किसी ने ठीक ही कहा है कि मेहनत, लगन, धैर्य, परिश्रम, से सफलता जरूर मिलती है। आज 13 दिसंबर के दिन इस तारीख पर छत्तीसगढ़ को नए मुख्यमंत्री मिला है। लोग जानना चाहते हैं कि विष्णुदेव साय कौन है? उनके मुख्यमंत्री बनने तक का राजनीतिक सफर कैसा था? विष्णुदेव साय एक किसान परिवार से है। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री( Chief Minister ) श्री विष्णुदेव साय सबसे पहले पंच बने उसके बाद निर्विरोध सरपंच बने उसके बाद सांसद बने और फिर आज छत्तीसगढ़(Chhattisgrh) विधायक दल के नेता यानी मुख्यमंत्री के पदभार संभाले हैं। Political journey of Vishnudev Sai ji till becoming the Chief Minister, Journey till becoming the Chief Minister of Chhattisgarh, How to become the Chief Minister.

 

तो चलिए आज जानते हैं विष्णुदेव साय जी की राजनीतिक सफर के बारे में मुख्यमंत्री बनने तक की राजनीतिक यात्रा के बारे में। यकीनन मुख्यमंत्री जी की राजनीतिक सफर आपके अंदर एक मोटिवेशन(Motivation) प्रदान करेगी। 

 

श्री विष्णुदेव साय के जन्म और पढ़ाई लिखाई :

 

नवनियुक्त मुख्यमंत्री श्री विष्णुदेव साय का जन्म 21 फरवरी 1964 को जशपुर जिले के कांसाबेल तहसील के ग्राम बगिया में हुआ था। श्री विष्णुदेव साय के पिता स्वर्गीय श्री राम प्रसाद साय एवं माता जसमनी देवी हैं। श्री साय 27 मई 1991 में कौशल्या साय के साथ विवाह सूत्र में बंधे। इनके एक पुत्र और दो बेटियां है। श्री साय की शिक्षा हायर सेकेंडरी तक लोयोला उच्चतर माध्यमिक विद्यालय कुनकुरी में सम्पन्न हुई। Birth and education of Vishnudev Sai.

इसे भी पढ़ें -  छत्तीसगढ़ के कण-कण में बसे श्री राम, यहां के लोग अपने भांजे को प्रणाम क्यों करते क्या है मान्यता ? प्रभु श्री राम से जुड़े छत्तीसगढ़ में कई ऐतिहासिक जगह…

 

श्री विष्णुदेव साय का पंच से मुख्यमंत्री तक राजनीतिक सफर:-

 

श्री विष्णुदेव साय का 1989 में ग्राम पंचायत बगिया के पंच चुने जाने के बाद राजनीतिक जीवन की शुरुआत हुई। 1990 में ग्राम पंचायत बगिया के निर्विरोध सरपंच बने, 1990 से 98 तक सदस्य मध्यप्रदेश विधानसभा तपकरा से विधायक चुने गए, 1999 में 13वीं लोकसभा के सदस्य के रूप में रायगढ़ लोकसभा क्षेत्र के सांसद चुने गए, 2004 में 14वीं लोकसभा में फिर से रायगढ़ संसदीय सीट से सांसद चुने गए, 2006 में प्रदेश अध्यक्ष भारतीय जनता पार्टी चुने गए, 2009 में 15वीं लोकसभा के लिए रायगढ़ संसदीय सीट से लोकसभा के सांसद चुने गए, 2011 में भारतीय जनता पार्टी के फिर से प्रदेश अध्यक्ष चुने गए। 2014 में 16वीं लोकसभा के सदस्य के रूप में रायगढ़ संसदीय सीट से लोकसभा के सांसद चुने गए।

 

27 मई 2014 से 2019 तक केंद्रीय राज्य मंत्री इस्पात, खान, श्रम व रोजगार मंत्रालय रहे। 2020 से 2022 तक भारतीय जनता पार्टी के फिर से प्रदेश अध्यक्ष चुने गए। 2 दिसंबर 2022 को भाजपा के राष्ट्रीय कार्यकारणी में विशेष आमंत्रित सदस्य चुने गए। 8 जुलाई 2023 को राष्ट्रीय कार्य समिति के सदस्य नामित किए गए और 3 दिसंबर को घोषित हुए विधानसभा चुनाव में कुनकुरी सीट से विधायक चुने गए। 10 दिसंबर 2023 को छत्तीसगढ़ के विधायक दल ने उन्हें अपना नेता चुना और प्रदेश के अगले और प्रदेश के पहले आदिवासी मुख्यमंत्री के रूप में चुने गए। Vishnudev Sai’s political journey from Panch to Chief Minister.

 

नवनियुक्त मुख्यमंत्री श्री विष्णुदेव साय की परिवारिक पृष्टभूमि:-

 

इसे भी पढ़ें -  कृषक उन्नति योजना छत्तीसगढ़, 12 मार्च को इन किसानों के खाता में होगा अंतर राशि का भुगतान.. धान बोनस 917 रु प्रति क्विंटल

नवनियुक्त मुख्यमंत्री श्री विष्णुदेव साय ने पारिवारिक पृष्ठभूमि के संबंध में जानकारी देते हुए बताते हैं कि मैं स्वयं कृषक परिवार से हूं, जनसंघ के समय मेरे बड़े पिता जी स्वर्गीय श्री नरहरि प्रसाद साय सन 1962 से 1967 तक विधायक विधानसभा क्षेत्र लैलूंगा एवं सन 1972 से 1977 तक सांसद लोकसभा के सांसद और जनता दल सरकार में केंद्रीय संचार राज्य मंत्री भारत सरकार रहे। श्री विष्णु देव साय कहते हैं बड़े पिताजी स्वर्गीय श्री केदार नाथ साय जनसंघ के समय सन 1967 से 1972 तक विधायक विधानसभा क्षेत्र तपकरा का प्रतिनिधित्व उन्होंने किया और दादाजी सरदार स्वर्गीय बुधनाथ साय 1947 से 1952 तक क्षेत्र से विधायक मनोनीत हुए थे। Family background of Chief Minister Shri Vishnudev Sai.

 

तो इस तरह छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय जी का राजनीति के सफर रहा है की किस तरह उन्होंने अपने जीवन में एक पांच से लेकर एक राज्य की सबसे बड़ी पद मुख्यमंत्री तक का सफर तय किया है। किस तरह उन्होंने पंच से लेकर सरपंच फिर उसके बाद सांसद और काफी लंबे समय तक पार्टी के लिए काम करते रहे और उसके बाद आज छत्तीसगढ़ की चौथी मुख्यमंत्री बने।

 

मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय जी का यह राजनीतिक सफर आपके अंदर भी एक मोटिवेशन प्रदान कर सकता है। की किस तरह उन्होंने अपना सफर तय करके आज मुख्यमंत्री बने हैं। लोग अपने जीवन में कोई लक्ष्य या उद्देश्य को लेकर चलते हैं और कई लोग उन उद्देश्यों को पूरा नहीं कर पाते हैं कारण कुछ भी हो सकता है। लेकिन अगर आप मेहनत लगन धैर्य के साथ किसी भी काम को निष्ठा पूर्वक करते हैं तो एक न एक दिन सफलता मिलती है। Success story of how we can achieve success with our dedication and hard work. I learned this today.

इसे भी पढ़ें -  छत्तीसगढ़ 12.70 लाख किसानों को ऑनलाईन 10133 करोड़ रूपए का भुगतान, अब तक 49.27 लाख मीट्रिक टन धान की खरीदी

 


इस Post को आप Share भी कर सकते हैं 👇
error: Content is protected !!